Long Funny Stories in Hindi एक बड़े घर में सैकड़ों की संख्या में चूहे रहते थे।  वे चारो तरफ उछाल – कूद मचाते हुए हुए आराम से पेट भर लेते थे और जैसे ही खतरा दिखाई देता वे तुरंत ही छिप जाते थे।       एक दिन उस […]

Akbar Birbal Full Stories in Hindi एक बार बादशाह अकबर बीरबल से खफा हो गए और उन्हें नगर छोड़ने का आदेश दे दिया।       मगर बीरबल को पता था कि बादशाह ज्यादा दिनों के लिए गुस्सा नहीं होने और यही सोचकर वह भेष बदलकर पास के गाँव […]

True Funny Stories Hindi हम लोग कई महीनो से मकान बदलने की कोशिश कर रहे थे, पर मकान मिल नहीं रहा था।  तभी पता चला कि एक जगह बड़ा बढ़िया मकान आसानी से मिल रहा है।       एक दिन हम उस कालोनी में गए।  हम प्रॉपर्टी एजेंट […]

Funny Short Stories in Hindi  आगरा केवल ताजमहल के लिए ही नहीं जूतों के लिए भी बिख्यात है।  बादशाह अकबर के समय से ही जूतों का काम तेजी पर था। और स्वयंबादशाह आगरा के अच्छे से अच्छे जुते पहनने के शौक़ीन थे।     एक बार अकबर ने बहुत […]

Funny Stories For Kids In Hindi एक दिन सुबह के समय अकबर और बीरबल अपने बगीचे में घूमने के लिए।  घूमते हुए वे दोनों स्वर्ग और नर्क करने लगे।         अकबर और बीरबल बातों ही बातों में इन्द्र की बात करने लगे। फिर अकबर ने बीरबल […]

Short Funny Story in Hindi बहुत समय पहले की बात है। एक जंगल से एक जौहरी कहीं जा रहा था। उसने देखा कि एक किसान अपने गधे के गले में एक बड़ा हीरा बांधकर चला आ रहा था।       जौहरी को बड़ा आश्चर्य हुआ। उसने सोचा, ” […]

Funny Stories in Hindi हमारी कंपनी के मैनेजर लुकाराम बहुत ही डरपोक और संकोची किस्म के मानव थे, मगर खाने के मामले और दूसरे के पैसे खर्च कराकर खाने में उन्हें असीम सुख का अनुभव होता था, इसीलिए इनका नाम पेटूराम पड़ गया था।       जब भी […]

Comedy Hindi Story Pdf एक जंगल में एक शेर रहता था। उसे जंगल में कुछ खाने को नहीं मिला रहा था। वह अपने भोजन की तलाश में घूमते हुए गांव में चला गया।         कुछ दुरी पर उसे एक घर दिखा। उसने अपने मन में सोचा, […]

Whatsapp Funny Short Story in Hindi एक बार क्लास १० की हिंदी शिक्षिका अपने छात्रों को मुहावरा सीखा रही थी। एक छात्र को एक मुहावरा ” धोबी का कुत्ता न घर का न घाट का ” का अर्थ समझ नहीं आ रहा था।       इसलिए शिक्षिका ने […]

Short Hindi funny Stories Scripts मेरा नाम विकास है। सदा की तरह श्रीमती जी ने चाय का कप और अखबार एक साथ थमाया और फिर पास आकर बैठ गईं।       चाय को मेज पर रखकर मैंने अखबार खोला। मुख्यपृष्ठ की खबर पढ़ते ही मन खराब हो गया।  […]