New Fairy Tales in Hindi To Read / फेयरी कहानी इन हिंदी जरूर पढ़ें।

New Fairy Tales in Hindi To Read / फेयरी कहानी इन हिंदी जरूर पढ़ें।

New Fairy Tales in Hindi To Read मित्रों इस पोस्ट में All New Fairy Tales Stories in Hindi दी गयी है। यह बहुत ही बढियाँ हिंदी कहानी है।

 

 

 

परियो को नगरी में एक बहुत ही सुंदर परी रहती थी। उसका नाम रागिनी था। उसकी सुंदरता बर्फ के समान सफ़ेद था। इसलिए उसे सभी लोग बर्फ की परी कहते थे।

 

 

 

 

 

उसकी तीन सहेली थी। जिसका रंग लाल, पीला और नीला था। एक बार चारो परियों ने घूमने का विचार बनाया और दूसरे राज्य में उड़ गए। दूसरे राज्य का दृश्य बहुत ही मनमोहक था।

 

 

 

 

 

चारो परिया एक बगीचे में उतरी। रात्रि हो चुकी थी ठंडी हवाए चल रही थी।  चारो परिया वहां पर खूब खेली। कब सुबह हो गई उन लोगो को पता ही नहीं चला।

 

 

 

 

सुबह के समय राजकुमार अपने बगीचे में आया। राजकुमार का नाम विशाल था। वह सफ़ेद परी को देखकर मोहित हो गया और उसके पंख चुरा लिए।

 

 

 

 

 

सभी परिया जब वहां से जाने लगी तो सेफ परी अपने पंख को ढूंढने लगी। उसी समय राजकुमार परी के पंख को लेकर उसके सामने आ गया। सफ़ेद परी ने राजकुमार से अपना पंख मांगा।

 

 

 

 

विशाल ने परी से कहा, “अगर तुम हमारे साथ खेलोगी तब मैं आपका पंख दूंगा।”

 

 

 

 

 

परी ने कहा, “मैं अकेली नहीं हूँ मेरी तीन सहेली है और मैं उन लोगो को छोड़कर तुम्हारे साथ नहीं खेल सकती।”

 

 

 

 

राजकुमार ( विशाल ) ने कहा, “मेरे तीन भाई और है। वह परिया उन लोगो के साथ खेल सकती है। मैं उन लोगो को अभी बुला देता हूँ।”

 

 

 

 

 

 

राजकुमार के साथ उसके तीन भाई चारो परियो के साथ खूब खेले। कुछ समय बाद चारो परी अपने लोक को चली गई।

 

 

 

2- परीलोक में शीतल परी के साथ बहुत सारी परियां रहती थी। उन सभी परियो के बीच एक नटखट परी थी। वह हमेशा ही शरारत करती थी। जिसके कारण उससे सभी परियां परेशान रहती थी। नटखट परी का नाम रुबी था।

 

 

 

 

एक दिन दो परियां बगीचे में फूल तोड़ रही थी। तभी नटखट परी वहां पहुंची और दोनों को देखकर उसे शरारत करने की सूझी। वह उन दोनों परियो के बीच गई और उनकी चोटी एक दूसरे से बांध दिया।

 

 

 

 

 

जब दोनों परी फूल तोड़कर जाने लगी तो उनके बाल एक दूसरे से बंधे होने के कारण टूट गए और दोनों परियां रोने लगी। यह देखकर रुबी परी हंसने लगी।

 

 

 

 

 

रुबी परी को हंसता देख दोनों परियों ने कहा, “हम दोनों तुम्हारी शिकायत रानी परी से करेंगे।”

 

 

 

 

यह कहकर दोनों चली गई। कुछ दिन व्यतीत होने के बाद रुबी परी रसोई घर में गई। वहां उसने नेहा परी से कहा, “क्या मैं तुम्हारी कोई मदद कर सकती हूँ ?”

 

 

 

 

 

नेहा परी ने सोचा लगता है अब इसने शरारत करना छोड़ दिया है। उसने रुबी से कहा, “तुम इन सभी भोजन में नमक डाल दो।”

 

 

 

 

यह कहकर वह दूसरा काम करने लगी। रुबी ने उन सभी भोजनो में ज्यादा नमक डाल दिया और चली गई। रात के समय जब सभी परियां भोजन करने बैठी तो रानी परी ने सबसे पहले भोजन खाया और चिल्ला उठी और नेहा परी से पूछा, “आज भोजन में नमक ज्यादा क्यूं है ?”

 

 

 

 

 

इसपर नेहा परी ने कहा, “हमारी मदद करने के लिए आज रुबी परी आई थी। मैंने उसे भोजन में नमक डालने को कहकर दूसरा काम करने लगी। आज नमक उसी ने डाला है।”

 

 

 

 

 

यह सुनकर रानी परी ने कहा, “अब उसे सबक सीखना ही होगा।”

 

 

 

 

दूसे दिन रानी परी ने एक बॉक्स लिया और सभी परियों को बगीचे में बुलाकर कहा, “यह एक मुसीबत का बॉक्स है। इसे कोई नहीं खोलेगा।”

 

 

 

 

कुछ समय बाद सभी परियां वहां से चली गई। लेकिन रुबी परी के मन में फिर शरारत सूझी और उसने बॉक्स खोला। बॉक्स को खुलते ही उसमे से ढेर सारे भूत निकले और रुबी को परेशां करने लगे।

 

 

 

 

 

वह परेशान होकर “बचाओ, बचाओ” की आवाज लगाने लगी। रुबी की आवाज सुनकर रानी परी के साथ अन्य परियां भी वहां आई। रानी परी ने कहा, “अब समझ में आया जब तुम लोगो को परेशान करती हो तो उन लोगो को कैसा लगता है।”

 

 

 

 

 

रुबी परी ने कहा, “रानी परी मुझे इन भूतो से बचाइए मैं अब किसी को कभी परेशान नहीं करुँगी।”

 

 

 

 

रानी परी ने अपनी जादुई छड़ी से उन भूतो को बक्से में बंद कर दिया। अब रुबी परी भी किसी को परेशान नहीं करती थी। सभी लोग ख़ुशी-ख़ुशी रहने लगे।

 

 

 

 

मित्रों यह New Fairy Tales in Hindi To Read आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी हिंदी परी कहानियों ( Pari Stories in Hindi ) के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इस कहानी को शेयर भी जरूर करें।

 

 

1- Fairy Tail Story in Hindi / फेयरी टेल्स की कहानी हिंदी में

 

2- Prince And Princess Story in Hindi Written / राजकुमारी की कहानी हिंदी

 

3- Bedtime stories in Hindi fairy Tales

 

 

Pari ki Kahaniya