Akbar Birbal Stories in Hindi Language / अकबर बीरबल की कहानी

Akbar Birbal Stories in Hindi Language / अकबर बीरबल की कहानी

Akbar Birbal Stories in Hindi Language मित्रों इस पोस्ट में अकबर बीरबल की कहानी ( Akbar Birbal Short Story  in Hindi Language ) दी गयी है।  आपको यह कहानी जरूर पसंद आएगी।

 

 

 

अकबर बादशाह का मंत्री बीरबल था। उसे रोज ही सवेरे टहलने की आदत थी और वह रोज बादशाह के शाही बाग़ में टहलने जाता था। उस शाही बाग़ का माली एक मीर नाम का आदमी था।

 

 

 

बीरबल उस माली का बहुत ख्याल रखता था और माली भी बीरबल की बहुत इज्जत करता था। एक दिन बीरबल सवेरे बाग़ में टहलने गया तो उसे रोने की आवाज सुनाई पड़ी।

 

 

 

 

वह आवाज की दिशा में चल पड़ा। वहां पहुंचने पर देखा तो बाग़ का माली मीर रो रहा था। बीरबल ने मीर से रोने का कारण पूछा तो वह बोला, “मैं तो बर्बाद हो गया। मेरी पूरी जिंदगी भर की कमाई लुट गई।”

 

 

 

 

बीरबल ने कहा, “पूरी बात बताओ शायद मैं तुम्हारी मदद कर सकूं ?”

 

 

 

मीर कहने लगा हुजूर मैंने इस कटहल के पेड़ के नीचे मटके में 70 अशर्फी जमीन में छुपाकर रखी हुई थी। कोई उसे चुरा ले गया।”

 

 

 

 

बीरबल बोला, “लेकिन तुम्हे उन अशर्फियों को यहां बाग़ में ही छुपाने की जगह मिली थी क्या तुम उन अशर्फी को घर में नहीं रख सकते थे।”

 

 

 

इसपर मीर बोला, “हुजूर, मैं सारा दिन तो बाग़ में ही रहता हूँ। इसलिए मैंने सोचा कि हमारी सब अशर्फी यहां बाग़ में सुरक्षित रहेगी और मैं उन पर हमेशा नजर भी रखता था।”

 

 

 

“अच्छा यह बताओ इस बाग़ में कौन-कौन आता है ?” बीरबल ने मीर से पूछा

 

 

 

मीर बोला, “हुजूर, इस बाग़ में आप तो रोज ही आते है और आपके अलावा बादशाह के मंत्री भी आते है और कभी-कभी प्रसाद नामक एक बैद्य भी आते है।”

 

 

 

 

बीरबल बोला, “ठीक है। तुम परेशान मत हो और घर जाकर आराम करो। मैं तुम्हारे खोई हुई अशर्फी को ढूंढने का प्रयास अवश्य ही करूँगा।”

 

 

 

 

दूसरे दिन बीरबल दरबार में जाकर अकबर बादशाह को सारी बात बता दिया और बादशाह से बोला, “मैं इस दरबार में कुछ लोगो से सवाल पूछने की इजाजत चाहता हूँ।”

 

 

 

बादशाह ने इजाजत दे दिया। अब बीरबल एक दरबारी से पूछा, “आपकी तबीयत खराब थी तो आपने किससे इलाज कराया था ?”

 

 

 

 

उस दरबारी ने प्रसाद बैद्य का नाम बताया। अब बीरबल ने दूसरे दरबारी से प्रश्न किया, “आपकी पुरानी कब्ज कैसे ठीक हुई ?”

 

 

 

 

उसने भी प्रसाद का ही जिक्र किया। बादशाह बीरबल की इन बेतुकी बातो से परेशान हो गया तो उसने कहा, “बीरबल तुम इन लोगो से सवाल क्यूं कर रहे हो। मुझे कुछ नहीं समझ आ रहा है।”

 

 

 

इसपर बीरबल बोला, “जहांपनाह, अभी आपके सामने सब कुछ आईने की तरह साफ हो जाएगा। आप प्रसाद बैद्य को दरबार में बुलाइए।”

 

 

 

बादशाह ने सिपाही भेजकर प्रसाद बैद्य को दरबार में बुलाया। अब बीरबल ने बैद्य से कहा, “हमें बहुत दिनों से कब्ज की परेशानी है क्या तुम हमें कब्ज से छुटकारा दिला सकते हो ?”

 

 

 

 

प्रसाद बैद्य ने कहा, “हुजूर, यह तो बहुत आसान काम है। मैं आपके लिए दवा बना दूंगा जिससे आपका कब्ज दो दिन में ही गायब हो जाएगा।”

 

 

 

 

बीरबल ने कहा, “बैद्य जी यह बताओ कब्ज की दवा बनाने के लिए किस चीज की जरूरत पड़ती है ?”

 

 

 

 

बैद्य बोला, “हुजूर, इसमें कटहल की जड़ का अर्क ही प्रमुख है।”

 

 

 

बीरबल ने कहा, “कटहल की जड़ कहां से लाओगे ?”

 

 

 

 

बैद्य ने कहा, “यहां तो कही भी कटहल की जड़ मिलना मुश्किल है। इसके लिए तो हमें शाही बाग़ में ही जाना पड़ेगा। इसके पहले भी मैंने वही से कटहल की जड़ लाकर दवा बनाई थी।”

 

 

 

 

बैद्य के इतना कहते ही बीरबल ने सीधा सवाल कर दिया और बोला, “तुमने ही बाग़ के माली का पैसा लिया हुआ है उसे लौटा दो।”

 

 

 

 

बैद्य सच्चाई काबुल करते हुए कहा, “मैं एक दिन कटहल की जड़ लेने शाही बाग़ में गया था। जड़ की खुदाई करते ही मुझे एक मटके में अशर्फी मिली। मैंने सोचा कि शायद यह जिसका धन है वह भूल गया है। इसलिए मैं उसे अपने पास उठा लाया। हमारी चोरी करने की मंशा नहीं थी।”

 

 

 

 

बीरबल बैद्य के इस सफाई से खुश हो गया। उसने बाग़ के माली को बुलवाया और कहा, “तुम्हारे पैसे अभी मिल जाएगे। लेकिन तुम्हे केवल 60 अशर्फी ही मिलेगी। बैद्य को 10 अशर्फी दिया जाएगा क्योंकि उसने सच्चाई से सभी बातें बताई है।”

 

 

 

 

बीरबल की इस चालाकी से अकबर बादशाह बहुत खुश हुआ। बीरबल ने 60 अशर्फी मीर को दे दिया और 10 अशर्फी बैद्य को दे दिया और इस घटना के बाद मीर ने ऐसी गलती नहीं करने की कसम खा चुका था।

 

 

 

 

मित्रों यह Akbar Birbal Stories in Hindi Language आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी कहानी के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

1- Akbar Birbal Story in Hindi PDF

 

2- Akbar Birbal Short Stories in Hindi Written / अकबर बीरबल की कहानी

 

3- Akbar aur Birbal ki Kahani Hindi Mai / अकबर और बीरबल की हिंदी कहानी

 

4- Akbar Birbal Stories Hindi 2018 / अकबर बीरबल की फनी कहानी हिंदी में।

 

5- Akbar and Birbal Stories in Hindi wiki

 

6- Akbar Birbal ki Story in Hindi / अकबर बीरबल की कहानी इन हिंदी

 

7- Birbal ki khichdi story in Hindi

 

8- Akbar Birbal stories in Hindi – youtube

 

 

 

Uncategorized